योनि में संक्रमण और खुजली का घरेलू उपचार

Vaginal Infections, Yoni Me Jalan, Yoni Me Khujali

योनि में संक्रमण(इंफेक्शन) का कारण :
स्त्रियों में उनके बाॅडी पार्ट में योनि एक बहुत ही संवेदनशील और कोमल यौनांग होता है, जिसमें से पेशाब के दौरान मूत्र के रूप में बहुत से दूषित तत्व निकलते हैं। पेशाब करने के बाद स्वच्छ पानी से योनि को साफ नहीं करने के कारण योनि से चिपके दूषित तत्व खुजली पैदा कर देते हैं। योनि के आसपास बहुत ज्यादा पसीना आने से भी योनि में तीव्र खुजली होती है। गर्भाशय के कुछ रोगों और सफेद पानी की समस्या की वजह से भी योनि में खुजली या संक्रमण हो जाता है।

योनि में संक्रमण और खुजली के घरेलू उपाय :
– साफ पानी में नीम की पत्तियों अच्छे से उबाल लें। उसके बाद पानी को किसी साफ कपड़े से छान लें और छने हुए पानी से योनि को सही से साफ करें। ऐसा करने से योनी में संक्रमण, खुजली समाप्त होती है। इस प्रयोग को दिन में कई बार करना चाहिए।
– साफ पानी में डिटोल मिला कर उस पानी से अपनी योनि को अच्छे से साफ कर लें, इससे भी इन्फेक्शन और खुजली दूर होती है योनि की।
– स्वच्छ जल से कौंच की जड़ को साफ करें, फिर इसे 10 ग्राम मात्रा में लेकर, पानी में देर तक उबाल कर क्वाथ बनाएं। इस क्वाथ को छानकर सुबह-शाम योनि की साफ-सफाई करने से संक्रमण व खुजली की परेशानी दूर होती है। योनि की शिथिलता भी समाप्त हो जाती है।
आंवलों को पीसकर उसके 10 ग्राम रस में मिश्री मिलाकर कुछ दिनों तक खाने से जलन के कारण होने वाली योनि में होने वाला संक्रमण और खुजली दूर हो जाती है।
– योनि की संक्रमणता और खुजलि को दूर करने के लिए गिलोय, दंती और त्रिफला के क्वाथ से योनि का प्रक्षालन करना चाहि।
– 50 ग्राम गिलोय, बेल की शाखा के बारीक-बारीक टुकड़े काट कर थोड़ा-सा कूटकर साफ पानी में में उबाल कर क्वाथ बना लें। इस क्वाथ को छानकर योनि को दिन में बार-बार साफ करने से संक्रमण और खुजलि की समस्या दूर होती है।
– अपामार्ग और पुनर्नवा की जड़ को जल्द से साफ करके, कूट पीसकर योनि में लेप करने से कुछ दिनों में ही इन्फेक्शन और उससे होने वाली खुजली की समस्या समाप्त होती है।

– स्वच्छ पानी में सोेंठ को उबाल कर क्वाथ बनाएं। फिर इस क्वाथ को साफ कपड़े से छान लें और इसमें 25-30 ग्राम गुड़ मिलाकर खाएं। ऐसा करने से मासिक धर्म के कारण होने वाली योनि की इन्फेक्शन व खुजली खत्म हो जाती है।
– 50 ग्राम मात्रा में अमरूद के पेड़ की जड़ ले लें और इसे साफ पानी से धो लें। फिर पानी में उबाल कर क्वाथ बनाएं। इस क्वाथ को छानकर सुबह, दोपहर और रात को सोने से पहले योनि को साफ करने से संक्रमण और खुजली से छुटकारा मिलता है।
– नीम के ताजे और कोमल पत्तों को 100 ग्राम मात्रा में लेकर, उसमें 5 ग्राम छोटी इलाइची के दानें मिलाकर पानी में उबालें। इन दोनों चीजों का क्वाथ बनाकर योनि को दिन में दो तीन बार धोयंे यानी साफ करें। ऐसा करने से संक्रमण व खुजली की परेशानी भाग जाती है।
– एक कांच की शीशी में नारियल के तेल में कपूर मिलाकर भरकर रख लें। नहाने के बाद इस तेल को उंगली द्वारा लगाने से खुजली समाप्त होती है। रात को सोते समय तेल लगाने से इन्फेक्शन और खुजली शीघ्र समाप्त हो जाती है।
– योनि के आसपास नन्हीं फुन्सियां होने पर नीम की छाल को जल के साथ घिसकर उन फुंसियों पर लेप करने से जल्दी ही फुंसियां खत्म हो जाती हैं, जिस कारण इन्फेक्शन व खुजली भी दूर हो जाती है।
– एक कांच की शीशी में चमेली का तेल और कपूर मिला कर भरकर रख लें। फिर दिन में दो-तीन बार इस तेल को योनि में लगाने से संक्रमण व खुजली की परेशानी दूर हो जाती है।
– 5-5 ग्राम चंदन का तेल और बावची का तेल 5 ग्राम मात्रा में मिलाकर 2-3 बार दिन में योनि पर लगाने से खुजली की समस्या से में राहत मिलती है। चंदन के तेल में नींबू का तेल मिलाकर लगाने से भी खुजली दूर होती है। योनि में कोई तेल लगाने से पूर्व डिटॉल मिले पानी से योनि को साफ कर लेना चाहिए, तभी संक्रमण और खुजली से मुक्ति मिलेगी।

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *