हस्तमैथुन से बचने के उपाय

हस्तमैथुन

Hastmaithun, Masturbate, Masturbation, Masturbation Treatment

हस्तमैथुन व्यक्ति उस स्थिति में करता है, जब उसके समक्ष अपनी कामेच्छा व उत्तेजना को शांत करने का कोई साधन या विकल्प(पत्नी व स्त्री के रूप में) उपलब्ध न हो। हस्तमैथुन में व्यक्ति हस्त द्वारा अपने लिंग को घषर्ण व सहला कर के वीर्य को निकलने का मार्ग दिखाता है और जब वीर्य निकल जाता है, तब उसकी वासना शांत हो जाती है। इस पूरी प्रक्रिया को ही हस्तमैथुन कहते हैं।
हस्तमैथुन के दौरान व्यक्ति कल्पना करता है कि वह किसी स्त्री के साथ संभोग कर रहा है और धीरे-धीरे उसे वास्तविक रूप में लगने लगता है कि वह स्त्री के साथ ही संभोगरत है। इसी कामोत्तेजना के दौरान लिंग-घर्षण करते हुए उसका वीर्यपात हो जाता है।

क्या हस्तमैथुन करना सही है?

माह में एक से दो बार हस्तमैथुन करने से कोई हानि नहीं होती है किन्तु प्रतिदिन हस्तमैथुन करना और इसे अपनी लत बना लेता जरूर हानिकारक सिद्ध हो सकती है। कई पुरूष तो ऐसे भी हैं जो एक ही दिन में कई-कई बार हस्तमैथुन करके वीर्य को नष्ट करते रहते हैं। ऐसे व्यक्ति हस्तमैथुन की आदत को चाहकर भी छोड़ नहीं पाते हैं।

हस्तमैथुन से छुटकारा पाने के कुछ बहुत ही खास उपाय-

1. बुरी संगति का त्याग करें : 
शायद आप मानें या ना मानें, मगर संगति का हमारे जीवन में बहुत गहरा असर पड़ता है। जैसी हमारी संगति होती है, वैसी ही हमारी मति(दिमाग) हो जाती है। अच्छी संगति के साथ अच्छे गुण आते हैं और जीवन सुधरता है और बुरी संगति के साथ बुरे विचार आते हैं, जिस कारण जिंदगी नरक बनने लगती है। इसलिए यदि आपकी संगति ऐसी है जिसमें अश्लील वातवारण हो और आपकी संगति के लोग भी हस्तमैथुन में रूचि रखते हों, तो आप में भी वैसी की प्रवृति आने लगती है। कुल मिलाकर अच्छी संगत रखें और बुरे विचारों से दूर रहें।

2. अश्लील फिल्में(पोर्न) बिल्कुल ना देखें :
हस्तमैथुन की लत से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो सबसे पहले अश्लील फिल्मों को अलविदा कहें। दरअसल व्यक्ति अश्लील पोर्न वीडियोज़ देखता ही इसलिए है कि वह एकांत में हस्तमैथुन कर सके। जोकि आदत बन जाती है। यदि बुरी संगति में दोस्तों के साथ पोर्न देखता है, तो वह पहले से ही यह मन ही मन तय कर लेता है कि एकांत मिलने पर वह हस्तमैथुन करके अपनी कामेच्छा को शांत करेगा। पोर्न फिल्मों के दृश्य व्यक्ति के दिमाग पर इस कदर हावी हो जाते हैं कि उन्हीं की कल्पना करते हुए वह उत्तेजित होता रहता है और व्यक्ति हस्तमैथुन करने पर विवश हो जाता है। इसलिए यदि आपने पोर्न देखना छोड़ दिया तो आपकी आधी समस्या तो यहीं हल हो जायेगी।

3. कामुक साहित्य व किताबों से रहें दूर :
आज व्यक्ति सेक्स देख भी सकता है और पढ़ भी सकता है, इसलिए अश्लीलता से बच पाना आज के वर्तमान युग में असंभव-सा हो गया है। यदि व्यक्ति पोर्न देखना छोड़ भी दे, तो कहीं न कहीं से अश्लील सामग्री पढ़ने के रूप में उसे मिल ही जाती है। अश्लील किताबें पढ़ने से भी व्यक्ति का मन कामुक हो जाता है और वह हस्तमैथुन के लिए एकांत ढूूंढने लगता है। धीरे-धीरे यह उसकी आदत बन जाती है। इसलिए अश्लील साहित्य वगैरह भी बिल्कुल ना पढ़ें। यदि पढ़ना ही है तो धार्मिक पुस्तकें या फिर प्रेरणात्मक साहित्य पढ़ें, जिससे आपका मन शुद्ध रहेगा और बुरे विचार आपसे कोसों दूर।

4. खुद को व्यस्त रखें :
कहते हैं खाली दिमाग शैतान का घर होता है। आप कोशिश करिए कि अपने आपको पूरे दिन यानी सुबह के नित्यक्रम से लेकर रात को बिस्तर पर सोने तक खुद को व्यस्त रखें। इसलिए जरूरी है अपनी दैनिकचर्या को सुधारने की। अपना टाइम टेबल ऐसा बना लीजिए कि उस समय पर आप केवल वही काम करें और जरूर करें। खुद को व्यस्त रखेंगे तो समय भी जल्दी कटेगा और आपको हस्तमैथुन जैसी बुरी बलायें छू भी नहीं पायेंगी। यदि पूरे दिन में व्यस्तता के दौरान भी हस्तमैथुन का ख्याल आ जाये, तो उस समय आप तुरन्त कोई ऐसी अप्रिय घटना के बारे में सोच सकते हैं जिससे कभी आपको बहुत गहरा धक्का लगा हो, दुःख हुआ हो जिससे आपको उबरने में समय लगा था। ऐसा करने से तुरन्त आपका मन बदल जायेगा।

Hastmaithun Se Bachne Ke Upay

5. गंदी, कामुक वार्तालाप का हिस्सा न बनें :
अश्लीलता से पूरी तरह दूर रहें। चाहे फिर वो र्पोन देखना हो, पढ़ना हो या फिर कहीं अश्लील बातें चल रहीं हो वो भी बिल्कुल ना सुनें। कई बार होता है कि व्यक्ति ना तो पोर्न देखता और और ना ही अश्लील किताबें पढ़ता है। मगर फिर भी जाने अनजाने कहीं न कहीं अश्लील व कामुक किस्से कहानियां सुन ही लेता है, जिससे उत्तेजना जागृत हो जाती है। ऐसा अधिकतर दोस्तों के गु्रप में होता है। इसलिए जब भी आप देखें कि कहीं अश्लील बातें चल रहीं हैं, तो वहां से तुरन्त दूर चले जायें।

6. मन में करें दृढ़ संकल्प :
किसी भी चीज को करने के लिए अथवा नहीं करने के लिए व्यक्ति का अपने आप में दृढ़ होना बहुत जरूरी है। जब तक व्यक्ति खुद में दृढ़ संकल्पित नहीं होगा, तब तक बाहरी वस्तुएं या दबाव उसे वह काम करने से नहीं रोक सकतीं। इसलिए हस्तमैथुन की लत को छोड़ने के लिए दृढ़ संकल्पित होना बहुत जरूरी है। आप मन में ठान लीजिए कि चाहे दुनियां इधर की उधर हो जाये, किन्तु आप हस्तमैथुन नहीं करेंगे। यदि एक बार आपने अपने में ठान लिया, तो कोई भी आपको अपने अटल फैसले से डिगा नहीं सकता। एक बार कोशिश करके जरूर देखें, क्योंकि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। आपकी भी नहीं होगी।

Summary
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay
Article Name
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay
Description
Hastmaithun Se Bachne Ke Upay. माह में एक से दो बार हस्तमैथुन करने से कोई हानि नहीं होती है किन्तु इसे अपनी लत बना लेना जरूर हानिकारक सिद्ध हो सकती है।
Author
Publisher Name
Chetan Clinic
Publisher Logo
Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *