वीर्यप्रमेह, शुक्रमेह, धात आना, धातुक्षय (Spermatorrhoea)-

इस रोग में मल-मूत्र करते समय थोड़ा-सा जोर लगा देने पर अण्डे की सफेदी जैसा या लेसदार तरल आने लगता है। अतिशय भोग-विलास या हस्तमैथुन से जननेन्द्रिय की उत्तेजना इतनी बढ़ जाती है कि तनिक-सी उत्तेजना से वीर्य निकल जाता है।

घरेलू चिकित्सा-

1. आँवला, गोखरू और नीम गिलोय बराबर-बराबर मात्रा में लेकर बारीक चूर्ण तैयार कर लें। यह चूर्ण 1-1 चम्मच प्रतिदिन 3 बार जल के साथ दें।

2. हर्र, बहेड़ा, आँवला बराबर-बराबर लेकर महीन कर लें। 1-1 चम्मच 3 बार शहद मिलाकर दें।

3. आँवला और गिलोय स्वरस 2-2 चम्मच और शहद 1 चम्मच मिलाकर प्रतिदिन तीन बार खाली पेट दें।

4. त्रिफला चूर्ण 3 ग्राम, हल्दी चूर्ण 1 ग्राम प्रतिदिन 2-2 बार शहद के साथ दें।

5. ईसबगोल की भूसी 1-1 चम्मच प्रतिदिन 2-3 बार जल के साथ दें।

6. बबूल के पंचांग का चूर्ण कर लें। 1-1 चम्मच प्रतिदिन 3 बार जल के साथ दें।

7. सेमल की जड़ और मिश्री बराबर-बराबर लेकर चूर्ण कर लें। 1-1 चम्मच दो बार दूध या जल के साथ प्रतिदिन दें।

8. बढ़ का दूध 10-10 बँूद सुबह-शाम बताशे या चीनी में टपका कर प्रतिदिन खायें।

9. कौंच के बीज, अश्वगंधा, शतावरी और तालमखाना बराबर-बराबर चूर्ण कर लें। 5-5 ग्राम प्रतिदिन सुबह, दोपहर तथा शाम सुखोष्ण मीठे दूध के साथ दें।

10. अश्वगंधा, शतावरी, सफेद मूसली, कौंच के बीज, गोखरू, मुलेहठी, त्रिफला और मिश्री प्रत्येक 100 ग्राम। खूब महीन(बारीक) कर लें। 1-2 चम्मच 3 बार प्रतिदिन सुखोष्ण मीठे दूध के साथ दें।

11. असगंध चूर्ण 1-1 चम्मच सुबह-शाम दूध 250 एम.एल. में खौलाकर, मिश्री की चूर्ण मिलाकर पिलायें।

Dhatu Rog Ki Samasya Ka Ayurvedic Upchar

12. सुबह के नाश्ते में अंकुरित गेहूँ या चने खूब चबाकर खाने चाहिए।

13. कच्चे नारियल का पानी प्रतिदिन 2-3 बार 1-1 गिलास करके पीना लाभदायक है।

14. शतावरी, कौंच के बीज, तालमखाना के बीज, गोखरू, सेमर मूसली तथा असगन्ध 100-100 ग्राम महीन कर लें। 1-2 चाय के चम्मच से प्रतिदिन 3 बार दूध के साथ लें।

15. आँवला, गोखरू, गिलोय, अश्वगंधा और शतावर बराबर-बराबर लेकर खूब बारीक कर लें। 1-1 चम्मच रोजाना 3 बार दूध के साथ दें।

16. नारियल की गिरी 30 ग्राम को कद्दूकस करके घी 75 ग्राम में भून लें। फिर उसमें नारियल का पानी 130 मि.ली. तथा चीनी 300 ग्राम मिलाकर पाक तैयार करें। 10-10 ग्राम सुबह-शाम खाकर दूध पी लिया करें।

17. अश्वगंधा चूर्ण 1-1 चम्मच सुबह-शाम फांक कर दूध पीना चाहिए।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *